इतेनडिन्हे

img_alt6

60
  • कोई साधन
  • यहाँ एक मुख्य विषय वह यह है कि भक्त और ईश्वर के अंतरगत कोई साधन नही है, और यही वह बात है जिसको ज्ञानी लोगों ने माना है।


  • अनन्त चमत्कार
  • निश्चित रुप से मोहम्मद सल्ललाहु अलैही व सल्लम से पूर्व प्रवक्ता के चमत्कार अस्थाथी थे। जब कि हम खुराने करीम को अनन्त चमत्कार का नाम दे सकते है। इसलिये कि खुरान का प्रभाव हमेशा, और सदा रहने वाला है। एक मूसलमान के लिए हर वख्त और जगह यह अनुकूल है कि वह केवल खुरान को पढ़कर इस चमत्कार को देखें। इस चमत्कार में हमे इस्लाम के फैलाव का सही कारण मिलता है। यह ऐसा फैलाव है जिसका कारण यूरोपियन नही जान सके इसलिए कि वह लोग खुरान से सुपरिचित नही है, या इसलिए कि वह लोग खुरान को केवल उस अनुवाद से जानते हैं जो वास्तविकता से दूर हैं, इसके अलावा यह अनुवाद शत प्रतिशत सही नही होते।


  • रौशन वाणी (हदीस)
  • मुहम्मद कि रौशन वाणी (हदीस) आज तक बाक़ी है। जो धर्ती पर मौजूद आपके लाखों अनुयायी के मन में स्थिर धार्मिक प्रेर्णता का खुला परिमाण है।











न्याय और पवित्रता