डॉक्टर मोराढ होवमान

img_alt6

46
  • संसार के साथ चलना चाहिए
  • सारे इतिहास में इस्लाम धर्म का फ़ैलाव उसकी एक विशेशता है। इसलिए की इस्लाम प्रकृति का धर्म है, जो मुस्तफ़ा (मुहम्मद) के मन पर अवतरित हुआ है।


  • सदा रहने वाली प्रयोजना
  • इस्लाम सदा रहने वाली परियोजना का वह जीवन है जो न कभी पुराना पडता है, और न उसकी क्षमता समाप्त होती है। जब कुछ लोगों ने इसको प्राचीन काल में देखा हो, तो वही इस्लाम आज भी है और भविष्य काल में रहेगा। समय या स्थान में वह सीमित नही है। वह कोई विचारों की लहर या फ़ैशन नही है कि उसका इंतज़ार संभव हो। आज तक भी यह कहावत रोशनी प्राचीन काल से आयेगी बिल्कुल सही है।











img_alt6