हे मेरे ईश्वर ईश्वर

हे मेरे ईश्वर
ईश्वर

93
जब मैं अंतरिक्ष के (नई) अधुनिक चित्रं क आलग अलग होते हुए देखता हूँ। तो मेरी सबसे पहली प्रतिक्रिया ये होती है के स्वतः मैं चीखने लगाता हूँ। ऐ मेरे ईश्वर सारी परिश्रम का फल मिलगया। मेरी जिंदगी की खसम ये बहुत अद्भूत विषय है।





Tags:




 अल्लाह तआला अल मुबीन है..