islamkingdomfaceBook islamkingdomyoutube


और जिन लोगों ने हमारी आयतों से इन्कार किया है यही लोग बदबख्त हैं

कि उनको आग में डाल कर हर तरफ से बन्द कर दिया जाएगा

सूरज की क़सम और उसकी रौशनी की

और चाँद की जब उसके पीछे निकले

और दिन की जब उसे चमका दे

और रात की जब उसे ढाँक ले

और आसमान की और जिसने उसे बनाया

और ज़मीन की जिसने उसे बिछाया

और जान की और जिसने उसे दुरूस्त किया

फिर उसकी बदकारी और परहेज़गारी को उसे समझा दिया

(क़सम है) जिसने उस (जान) को (गनाह से) पाक रखा वह तो कामयाब हुआ

और जिसने उसे (गुनाह करके) दबा दिया वह नामुराद रहा

क़ौम मसूद ने अपनी सरकशी से (सालेह पैग़म्बर को) झुठलाया,

जब उनमें का एक बड़ा बदबख्त उठ खड़ा हुआ

तो ख़ुदा के रसूल (सालेह) ने उनसे कहा कि ख़ुदा की ऊँटनी और उसके पानी पीने से तअर्रुज़ न करना

मगर उन लोगों पैग़म्बर को झुठलाया और उसकी कूँचे काट डाली तो ख़ुदा ने उनके गुनाहों सबब से उन पर अज़ाब नाज़िल किया फिर (हलाक करके) बराबर कर दिया

और उसको उनके बदले का कोई ख़ौफ तो है नहीं

रात की क़सम जब (सूरज को) छिपा ले

और दिन की क़सम जब ख़ूब रौशन हो

और उस (ज़ात) की जिसने नर व मादा को पैदा किया

कि बेशक तुम्हारी कोशिश तरह तरह की है

तो जिसने सख़ावत की और अच्छी बात (इस्लाम) की तस्दीक़ की

तो हम उसके लिए राहत व आसानी

(जन्नत) के असबाब मुहय्या कर देंगे

और जिसने बुख्ल किया, और बेपरवाई की

और अच्छी बात को झुठलाया